Mishra4u

Ekadashi 2021/ एकादशी 2021

हिन्दू पंचांग अनुसार प्रत्येक 11 वी तिथि को एकादशी व्रत का विधान है . हिन्दू शास्त्रों के अनुसार ऐसी मान्यता है कि एकादशी उपवास रखने से भगवन विष्णु अपने भक्तों से प्रसन्न होते हैं एवं आजीवन उन पर अपनी कृपा बनाये रखते हैं. एकादशी एक माह में दो बार आती है एक कृष्ण पक्ष में और एक शुक्ल पक्ष में.

भगवान् विष्णु को प्रसन्न करने के लिए उनके भक्त एकादशी का कठोर उपवास तीन दिनों तक रखते हैं. एकादशी के दिन अन्न का दाना भी पेट में न रहे ऐसा सोचते हुए एकादशी से एक दिन पूर्व ही भक्तगण अन्न त्याग देते हैं. एकादशी के दिन व्रत के कठोर नियमों का पालन करते हुए अगले दिन प्रातः काल सूर्योदय के पश्चात ही एकादशी व्रत का पारण करके भोजन ग्रहण करते हैं.

एकादशी में बिना जल , जल के साथ , फल या एक समय के सात्विक भोजन के साथ व्रत रखने का विधान है. एकादशी व्रत में किसी भी प्रकार का अन्न ग्रहण करना वर्जित है.

 दिनांक  एकादशी
 शनिवार , 9 जनवरी सफला एकादशी 
रविवार , 24 जनवरीपौष पुत्रदा एकादशी 
रविवार, 7 फरवरीषट्तिला एकादशी
मंगलवार, 23 फरवरीजया एकादशी 
मंगलवार, 9 मार्चविजया एकादशी
गुरुवार, 25 मार्चआमलकी एकादशी
बुधवार, 7 अप्रैलपापमोचिनी एकादशी
शुक्रवार, 23 अप्रैलकामदा एकादशी
बुधवार, 7 मईवरुथिनी एकादशी
शनिवार, 22 मईमोहिनी एकादशी
रविवार, 6 जूनअपरा एकादशी
सोमवार, 21 जूननिर्जला एकादशी
सोमवार, 5 जुलाईयोगिनी एकादशी
मंगलवार, 20 जुलाईदेवशयनी एकादशी
बुधवार , 4 अगस्तकामिका एकादशी
बुधवार , 18 अगस्तश्रावण पुत्रदा एकादशी
शुक्रवार , 3 सितम्बरअजा एकादशी
शुक्रवार , 17 सितम्बरपरिवर्तिनी एकादशी
शनिवार, 2 अक्टूबरइन्दिरा एकादशी
शनिवार , 16 अक्टूबरपापांकुशा एकादशी
सोमवार , 1 नवम्बररमा एकादशी
रविवार, 14 नवम्बरदेवुत्थान एकादशी
मंगलवार , 30 नवम्बरउत्पन्ना एकादशी
मंगलवार, 14 दिसम्बरमोक्षदा एकादशी
गुरूवार, 30 दिसम्बरसफला एकादशी 
Shopping Cart